भीलवाड़ा में डॉक्टर के संक्रमित होने के बाद शुरू हुआ डोर-टु-डोर सर्वे, धारा 144 लागू, भीलवाड़ा लाक्डाउन

राजस्थान के भीलवाड़ा में एक डॉक्टर में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके बाद प्रशासन ने पूरे जिले में धारा 144 लागू कर दी है। स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने सार्वजनिक जगहों के सैनिटेशन का अभियान शुरू कर दिया है।

Must Read

Laxmmi Bomb Movie download Akshay Kumar

Laxmmi Bomb is a film people were looking forward to for many reasons. Laxmmi Bomb is a remake of super-hit Tamil...

ओमनीरोल एयरक्राफ्ट है राफेल, एक ही उड़ान में पूरा कर सकता है कई मिशन

भारतीय वायुसेना के अंबाला एयरबेस पर तीन घंटे बाद पांच राफेल फाइटर जेट लैंड करने वाले हैं. राफेल को...

Ram Mandir: भूमि भूजन के लिए हरी पोशाक क्यों पहनेंगे रामलला?

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए 5 अगस्त को होने वाले भूमि पूजन की तैयारियां जोरों पर है।...

भीलवाड़ा : राजस्थान के भीलवाड़ा में एक प्राइवेट हॉस्पिटल के डॉक्टर के कोरोना वायरस पॉजिटिव आने के तत्काल बाद चिकित्सा विभाग और जिला प्रशासन कोरोना के प्रसार पर नियंत्रण एवं बचाव के प्रयास में तेजी से जुट गया है। प्रशासन ने पूरे जिले में धारा 144 लगा दी है। 

भीलवाड़ा जनता कर्फ़्यू शुरू 20 मार्च 2020 (bhilwara lockdown)

तिरिक्त मुख्य सचिव रोहित कुमार सिंह ने बताया कि सूचना मिलते ही रैपिड रेस्पॉन्स टीमों (आरआरटी) ने युद्ध स्तर पर काम करना शुरू कर दिया। उन्होंने बताया कि अस्पताल में पिछले 14 दिनों में आए सभी मरीजों की कॉन्टेक्ट लिस्ट बनाकर स्क्रीनिंग करवाना शुरू कर दिया गया है। 

अतिरिक्त मुख्य सचिव ने बताया कि उदयपुर से भी आरआरटी बुलवाकर भीलवाड़ा जिले के सभी सार्वजनिक स्थलों, अस्पतालों, रेलवे स्टेशनों, बस स्टेशनों और धार्मिक स्थलों को संक्रमण रहित किया जा रहा है। वहीं जिला स्तर पर बनी आरआरटी संदिग्ध पाए गए एवं कॉन्टैक्ट की तलाश कर उनकी स्क्रीनिंग में लगी हुई है। संदिग्ध पाए गए 25 मरीजों का सैंपल लेकर जयपुर मंगवाया गया है। इनकी जांच में अब तक 10 सैंपल नेगेटिव पाए गए हैं, जबकि 15 सैंपल के अभी नतीजे आने बाकी हैं। 

सिंह ने बताया कि भीलवाड़ा में एएनएम, आशा, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और नर्सिंग स्टूडेट्स की 300 टीमों द्वारा डोर टू डोर सर्वे करवाया जा रहा है। अब तक ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में 25 हजार घरों में लगभग सवा लाख लोगों का सर्वे कराया जा चुका है। उन्होंने बताया कि मेडिकल टीम के पास 200 वीटीएम, 1000 एन-95 मास्क, 260 पीपीई किट, 60 हजार ट्रिपललेयर मास्क सहित अन्य संसाधन उपलब्ध हैं। सभी चिकित्सा सर्वे टीम के पास सेनेटाइजर व अन्य बचाव की सामग्री भी है। 

अतिरिक्त मुख्य सचिव ने बताया कि जिला कलेक्ट्रेट कार्यालय, मुख्य चिकित्सा कार्यालय एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय में 24 घंटे कंट्रोल रूम काम कर रहा है। यहां 13 टीमें आरआरटी की लगी हुई हैं। इसके अलावा राजकीय और निजी चिकित्सालयों में 139, रेलवे स्टेशनों पर 4, बस स्टैंड पर 13, राजकीय कार्यालयों में 85, होटलों में 34, 57 मंदिर, 6 मस्जिद व 13 अन्य स्थानों को संक्रमण रहित किया जा चुका है। भीलवाड़ा में 450 बेडेड का क्वारेंटाइन बनाया गया है। 129 विदेशी नागरिकों की स्क्रीनिंग की जा चुकी है, 96 लोगों को होम क्वारेंटाइम में रखा गया है। 40 बैड का आइसोलेशन वार्ड भी है, जिसमें 22 बैड विद वेंटिलेटर हैं। 

बांगड चिकित्सालय के आईसीयू को बंद कराकर संक्रमण रहित कराया

बांगड़ चिकित्सालय के एक चिकित्सक को खांसी व निमोनिया के लक्षणों के उपरान्त जिला चिकित्सालय के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया व इसके अलावा आरआरटी टीम द्वारा विजिट की गई। इसमें पाया कि स्टाफ के 3 लोगों को श्वास संबंधी समस्या है। इसमें से 2 को जयपुर रेफर किया गया है व 1 को वहीं अस्पताल में भर्ती किया गया। आईसीयू एवं स्टेप डाउन आइसीयू में कार्य करने वाले स्टाफ में लक्षण दिखने की वजह से आईसीयू को बंद कराकर संक्रमण रहित कराया गया। 

गुरुवार को उदयपुर और भीलवाड़ा आरआरटी द्वारा पूरे चिकित्सालय का गहनता से निरीक्षण कर 233 स्टाफ एवं 55 भर्ती मरीज की स्क्रीनिंग की। इसमें स्टाफ के 5 लोगों को जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। बांगड हॉस्पिटल के स्टाफ के 25 लोगों को आइसोलेशन में रखा गया है, जबकि स्टाफ के 2 लोगों को जयपुर में फोर्टीज एवं एसएमएस हॉस्पिटल में भर्ती किया है। स्टाफ के सभी लोगों के पते ले लिए गए हैं। अब तक कुल ओपीडी एवं आईपीडी में आने वाले रोगियों की सूचियां बनाई गई और अस्पताल को संक्रमण रहित कराया गया है। 

अधिक से अधिक शेयर करे

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Latest News

ओमनीरोल एयरक्राफ्ट है राफेल, एक ही उड़ान में पूरा कर सकता है कई मिशन

भारतीय वायुसेना के अंबाला एयरबेस पर तीन घंटे बाद पांच राफेल फाइटर जेट लैंड करने वाले हैं. राफेल को...

More Articles Like This